Wednesday, October 31, 2018

Facebook क्या है और कैसे Use करते हैं?

क्या आप जानते हैं Facebook क्या है? शायद ही कोई ऐसा online user होगा जिसने की Facebook का नाम पहले नहीं सुना हो. हम में ज्यादा लोग कई वर्षों से Facebook Users हैं लेकिन आज भी ऐसे लोग हैं जिनके लिए यह platform बिलकुल ही नया है और अपरिचित है. इसलिए ये जरुरी है की उन्हें Facebook क्या है, इसके मुख्य Features क्या हैं के विषय में बताया जाये जिससे वो इसका सही रूप से इस्तमाल कर सकें.

ये Facebook कैसे काम करता है ये जानना बहुत जरुरी है. वैसे इसका आसान सा जवाब है इसकी working बहुत ही simple हैं जिसे कोई भी user समझ सकता है. कोई भी user जिसका Facebook account है वो voluntarily किसी भी user के साथ connect हो सकता है और उनके साथ content share कर सकते हैं. इस प्रक्रिया में user के द्वारा “Friend request” भेजा जाता है और जिसे बाद में receiver (recipient user) के द्वारा accept किया जाता है. ये friend request एक invitation के तरह होता है. ये double-side feature होता है जो की सभी user को ये opportunity प्रदान करता है जिससे वो चाहें तो friend request accept कर सकते हैं या नहीं. ये उनपर निर्भर करता है.

Facebook के शुरुवात से ही यह हर समय बढ़ता ही जा रहा है और इसमें ज्यादा से ज्यादा लोग join होते जा रहे हैं. इसके अलावा Facebook हमेशा अपनी mechanisms जैसे privacy और content management को improve ही कर रहे हैं जिससे users का experience अच्छा हो. अभी की बात करूँ तो Facebook के करीब 2.3 Billions से ज्यादा registered Facebook users हैं. इतने ज्यादा users में बढ़ोतरी का कारण facebook का बढ़िया features हैं और pages भी हैं जो की निरंतर Facebook में quality content अपलोड कर रहे हैं. इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को फेसबुक क्या होता है और कैसे काम करता है के विषय में पूरी जानकरी प्रदान करें जिससे सभी नए और पुराने users को इससे थोडा बहुत सीखने को मिले. तो बिना देरी किये चलिए शुरू करते हैं.

फेसबुक क्या है (What is Facebook in Hindi)


इसमें कई public features होते हैं जैसे की :

1.  Marketplace – इसका इस्तमाल कर members चाहें तो post, read और respond कर सकते हैं classified ads को.

2.  Groups – इसका इस्तमाल का members एक दुसरे के साथ interact कर सकते हैं जो की कोई common interests share करते हैं. ऐसे groups में वो common interest के विषय में बातचीत कर सकते हैं. ये Groups या तो public होते हैं ये फिर private. Public में सभी join कर सकते हैं वहीँ Private में केवल invite मिलने पर ही आप join कर सकते हैं.

3.  Events – ये members को allow करते हैं किसी event को publicize करने के लिए, invite करने के लिए guests को और track करने के लिए की कौन इसमें attend करने वाले हैं.

4.  Pages – ये allow करते हैं members को create और promote करने के लिए किसी एक public page को जो की एक specific topic के around में build किया गया होता है.

5.  Technology की presence– इससे members ये देख सकते हैं की उनके कौन से contacts online हैं जिनसे वो chat कर सकते हैं. इसके साथ आप live video stream कर सकते हैं जिसे की Facebook Live कहते हैं.

सन 2004 में, Mark ZuckerbergDustin Moskovitz और Chris Hughes, जो की उस समय Harvard University के students थे, उन्होंने तब एक Web site की design करी थी जिसका इस्तमाल कर students एक दुसरे के touch में रह सकें, जहाँ वो अपने सभी photos share कर सकें और साथ ही नए लोगों से मुलाकात भी कर सकें. उन्होंने इस Website का नाम thefacebook.com रखा था, और ये उस समय Harvard Campus में बहुत popular भी हुआ था.

उन्होंने एक ऐसी website बनायीं थी जिसका main intention था की university में सभी new students की एक online directory बनायीं जाये. उस समय इस website की membership केवल Harvard Students के पास ही था. लेकिन बहुत ही कम समय में इसकी popularity इतनी ज्यादा हो गयी की दुसरे college के students को भी इसमें include करना पड़ा. वहीँ 1 वर्ष के भीतर Facebook के total users की संख्या 1 million तक पहुँच गयी. बाद में इसकी membership सभी के लिए open हो गयी जिनकी age 13 से ज्यादा है. Facebook’s Press Room के अनुसार, इस social networking site में लगभग 100 million से भी ज्यादा active users हैं.

Facebook एक privately owned company हैं जिसका headquarter Palo Alto, California, USA में स्तिथ हैं. Mark Zuckerberg, जब उनकी age 24 थी और वो एक Harvard drop-out थे, तब उनकी ranked 785 थी Forbes के Magazine’s list में world’s billionaires के, तब उनकी net worth approximately थी $1.5 billion.

Common Facebook Terms जिनके विषय में सभी को जानना चाहिए


अगर आपने अभी तक भी Facebook join नहीं किया है तब आपको जरुर थोडा अलग अलग सा लग रहा होगा, क्यूंकि वे अक्सर likes, posts, hashtags, updating status जैसे शब्दों का इस्तमाल करते होंगे. लेकिन दुःख होने की बात नहीं है क्यूंकि ऐसे बहुत से terms और phrases हैं जिनका इस्तमाल ‘Language of Facebook’ में किया जाता है. वैसे ये सभी words का पहले dictionary में मतलब होता था लेकिन अभी Facebook ने उन words का अब purpose बदल दिया है.

facebook

Warning: ये words शुरुवात में थोडा confusing हो सकते हैं लेकिन एक बार इसके विषय में जानके आपको और तकलीफ नहीं होगी.

Status Update:  ये text based posts होते हैं जो की user के mood को describe कर सकते हैं, साथ में विचार भी, या कोई दूसरी चीज़ भी आप अपने दोस्तों के साथ उन्हें share कर सकते हैं.
Timeline: यह एक page के तरह होता है सभी profile में. यहाँ पर आप अपने information जैसे की आपके pictures, basic information जैसे की favourite books, entertainment shows, celebrity इत्यादि share कर सकते हैं.

News Feed:  इसे आप सोच सकते हैं आपके status और आपके दोस्तों के timeline का combination. News Feed आपको show करते हैं updates आपके friends के और जो भी recent posts होते हैं Facebook pages या groups के जिन्हें आप follow करते हैं. इसी जगह में आप अपना सबसे ज्यादा समय व्यतीत करते हैं.

Like:  अगर आपको कोई post पसदं आया हो चाहे वो किसी friend का हो, या किसी page का या कोई group का, आप चाहें तो उस post पर like या dislike कर सकते हैं. इससे आप उन post पर directly पहुँच सकते हैं. If you enjoyed and want to reach on the profiles of your friends then you choose to Like or Dislike the post.

Tag:  इसमें आप अपने friends को mark कर सकते हैं जो की आपको relevant लगे किसी picture या status के लिए जिन्हें आप अपने timeline में upload करना चाहते हैं. ये फिर appear होते हैं आपके friends के timeline में और साथ में उनके newsfeed में भी. इसके अलावा उन्हें एक notification भी मिलता है की उन्हें किसी ने tag किया है. आप चाहें तो इन tags को हटा भी सकते हैं या रख भी सकते हैं.

Notification:  इन्हें आप Facebook update भी कह सकते हैं, जहाँ Facebook में आप किनके साथ interact किया या कोई events और occasions में participate किया हैं इसके विषय में आपको पता चल जायेगा. इसमें आप यदि कहीं पर react करें या किसी को comment करें भी तब भी आपको notification मिल जाता है.

Facebook के Features क्या है?


Facebook को design किया गया है मुख्य रूप से college students के लिए. इसलिए इसके primary users students ही हैं. तो चलिए अब कुछ basic features के विषय में जानते हैं facebook के :

1.  इसमें identity के लिए एक profile picture का इस्तमाल होता है.

2.  एक दुसरे के साथ जान पहचान बढ़ाने के लिए Contact information और About You space होता है.

3.  Wall – यह एक ऐसा जगह होता है जहाँ आपके friends publicly comments post कर सकते हैं (एक digital bulletin board)

4. Status update – यह एक ऐसा tab होता है जहाँ पर आप अपने दोस्तों को अपने बारे में और आप क्या कर रहे हैं के विषय में बताते हैं.

5.  News Feed – इसमें regularly information update होते रहता है आपके friends के विषय में, groups जिन्हें आपने join किया, applications या friends जिन्हें उन लोगों ने add किया, साथ में अगर किसी ने कुछ भी change किया अपने profiles में तब वो उस feed में नज़र आता है.

6.  यह एक ऐसा space है जिसका इस्तमाल photos और videos upload करने के लिए किया जाता है.
लेकिन Facebook में ऐसे और भी कई features हैं जिन्हें आप कहीं किसी दुसरे social software sites में देख नहीं सकते हैं, ये customizable भी होते हैं और इनमें आप जितना चाहें उतना application add कर सकते हैं. साथ में facebook समय समय पर बहुत से ऐसे features भी add करता है जिनका इस्तमाल आप अपने profile में आसानी से कर सकते हैं.

Social Networking क्या है और इसके प्रकार


Social networking का मतलब होता है Social Media का इस्तमाल कर दुसरे लोगों के साथ network स्थापित करना. इसलिए Social services बहुत से social software tools का advantage लेते हैं ऐसे online places create करने के लिए जहाँ की people एक दुसरे के साथ meet कर सकें, एक दुसरे के साथ photos और videos share कर सकें, messages send कर सकें, games play कर सकें और ऐसे बहुत से चीज़ें कर सकें जो की अधिकांश लोगों को करना पसंद होता है.

Wikipedia ने Social networks को मुख्य रूप से तीन primary types में बांटा हुआ है:

Social networking का मतलब होता है Social Media का इस्तमाल कर दुसरे लोगों के साथ network स्थापित करना. इसलिए Social services बहुत से social software tools का advantage लेते हैं ऐसे online places create करने के लिए जहाँ की people एक दुसरे के साथ meet कर सकें, एक दुसरे के साथ photos और videos share कर सकें, messages send कर सकें, games play कर सकें और ऐसे बहुत से चीज़ें कर सकें जो की अधिकांश लोगों को करना पसंद होता है.

1.  sites जिसमें की केवल एक specific category directory होती है. (जैसे की former classmates)

2.  sites जिसमें की आप अपने friends और fans के साथ connect हो सकते हैं (जिसमें अक्सर customizable profile pages का इस्तमाल होता है)

3.  sites जो की एकदम से rely करता है recommender systems पर जो की trust से linked हों (जैसे की professional networking में होता है)

Facebook इसमें से दुसरे type में आता है social networking services के.

Facebook पर waving का मतलब क्या है?


Facebook में एक waving feature होता है. इसका इस्तमाल किसी नए लोग से conversation प्रारंभ करने के लिए किया जाता है. इसमें एक user दुसरे user को messenger में wave करता है मतलब की हाथ हिलाता है, greeting करने के लिए. ये एक ऐसा संकेत हैं की आप उनसे आगे बात करना चाहते हैं.

WhatsApp Facebook पर 1k का मतलब क्या होता है?


अगर में Whatsapp या Facebook के बात करूँ तब उसमें इस्तमाल होने वाला 1k का मतलब होता है 1 हज़ार. अक्सर हम Facebook में किसी photos में 1k likes देखते हैं इसका मतलब है की 1 हज़ार लोगों ने उस photo को like किया है.

Facebook और Networking


Facebook एक ऐसा चीज़ हैं जिसका आप जैसे चाहे वैसा इस्तमाल कर सकते हैं. मतलब की ये आपके लिए एक serious professional tool बन सकता है, एक हसी मजाक करने का स्थान बन सकता है, एक entertainment का स्थान भी बन सकता है, या दोनों का combination भी बन सकता है. Ultimately, इसमें आपके पास ही पूरा control होता है आप क्या अपने profile में add करना चाहें और किसके साथ उसे share करना चाहें.

Facebook एक बहुत ही बड़ा valuable networking tool होता है – क्यूंकि जैसे जैसे ज्यादा “adult-users” join होने लगे Facebook में, तब यहाँ एक possibility बनती है ऐसे दुसरे similar professionals के साथ connect होने के लिए जिनका की आप जैसे ही interest हो. इससे आप एक साथ और एक दुसरे की मदद करके ऊँचा उठ सकते हैं. इसके साथ Facebook एक बहुत useful resource बन सकता है staff के लिए एक बड़े organization में. Applications जैसे की Events, Photos और Videos के मदद से networks एक दुसरे के साथ ज्यादा सहजता से communicate कर सकते हैं जो की ज्यादा आसान होता है email से.

बहुत से professional और academic organizations भी present होते हैं Facebook में और वो अलग अलग role अदा करते हैं Facebook में उनके types के अनुसार. जहाँ कुछ केवल individuals को target करते हैं वहीँ कुछ एक बड़े community को target करते हैं, वहीँ कुछ location specific होते हैं तो कुछ event specific होते हैं.

Facebook आपके networking opportunities के awareness को expand करने में मदद करती है. जैसे ही कोई Facebook friends join करता है groups को और declare करता है की वो उस organization के fan हैं तब ऐसे करते हैं आपको Facebook News Feed के माध्यम से notification प्राप्त हो जायेगा. इसके साथ आप चाहें तो उन लोगों और groups को search का सकते हैं जो की आपके जैसे ही interest share करते हैं.

Discussion Boards, Walls और ऐसे दुसरे applications हैं Facebook में जो की आपको बहुत opportunity प्रदान करते हैं share करने के लिए.

Discussion Boards, Walls और ऐसे दुसरे applications हैं Facebook में जो की आपको बहुत opportunity प्रदान करते हैं share करने के लिए.

Facebook बहुत से अलग अलग प्रकार के games, videos, links, apps जैसे बहुत से fun चीज़ों से भरा हुआ है. ये बात तो मानना होगा की Facebook के सही माईने में social nature के होने के कारन बहुत से applications ज्यादा fun होते हैं जब उन्हें दोस्तों के साथ इस्तमाल किया जाता है. अगर आपको कभी लगे की आपको जिस game को खेलने के लिए किसी दोस्त ने invite भेजा है तब आप इसे ignore भी कर सकते हैं. इससे आपका response आपके दोस्तों के साथ share नहीं किया जायेगा. Similarly, आप उस सभी applications को block भी कर सकते हैं जो की आपको पसदं नहीं हैं.

एक बात हमेशा याद रखें की Facebook का इस्तमाल सभी लोगों के लिए अलग अलग होता है. जहाँ कुछ इसका इस्तमाल networking के लिए करते हैं वहीँ कुछ socializing के लिए तो कुछ academic के लिए करते हैं. कुछ तो केवल fun activities के लिए करते हैं. इसलिए हमें सभी choices की respect करनी चाहिए और खुद को जैसे ठीक लगे उसे वैसा इस्तमाल करना चाहिए.

Conclusion


मुझे आशा है की मैंने आप लोगों को फेसबुक क्या है (What is Facebook in Hindi) के बारे में पूरी जानकारी दी और में आशा करता हूँ आप लोगों को Facebook पर क्या होता है के बारे में समझ आ गया होगा. यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं. आपके इन्ही विचारों से हमें कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मोका मिलेगा. यदि आपको मेरी यह लेख फेसबुक क्या होता है हिंदी में अच्छा लगा हो या इससे आपको कुछ सिखने को मिला हो तब अपनी प्रसन्नता और उत्सुकता को दर्शाने के लिए कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, Google+ और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.